एक ऐतिहासिक दिवस

10 दिसंबर 1948 इस दिन संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सर्वव्यापी मानवाधिकार घोषणा को अपनाया।

जीवन, स्वतंत्रता, समानता और सम्मान के मूल अधिकार।

एक न्यायपूर्ण, समान और शांतिपूर्ण समाज के लिए आवश्यक।

कोई भी जाति, रंग, लिंग, धर्म, या राष्ट्रीयता के आधार पर भेदभाव नहीं।

अपने और दूसरों के अधिकारों की रक्षा के लिए जिम्मेदारी।

अगली पीढ़ी को मानवाधिकारों के बारे में शिक्षित करना।

विश्व भर में मानवाधिकारों को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम और गतिविधियाँ।

एक ऐसी दुनिया की ओर बढ़ रहे हैं जहां सभी के मानवाधिकारों का सम्मान किया जाता है।