बड़े से चाकू का उपयोग करके मजदूर गन्नों को सतह से काटते हैं।

उसके ऊपर की पत्तियों को अलग करके गन्नों को तैयार करते हैं।

 गन्ने को एक गठरी में बांध दिया जाता है।

 हर गठरी में 20 से 25 गन्ने बांधे जाते हैं।

इससे गन्ने को उठाना आसान होता है।

गन्ने की पत्तियां रेतीली और खुजली वाली होती हैं।

मजदूर अपने हाथों और पैरों में फुल कपड़े पहनते हैं गन्नों को हाथ लगाने के लिए।

चाकू का उपयोग करने से गन्ने को धीरे-धीरे तैयार किया जाता है।

गन्नों को गठरी में बांधने से उनका संग्रहण और परिवहन आसान होता है।

मजदूर अपनी सुरक्षा के लिए फुल कपड़े पहनते हैं क्योंकि गन्ने की पत्तियां तीव्र और खुजली का कारण बन सकती हैं