Petrol Pump Strike Hadtal Crisis : पेट्रोल पंप 4 दिन बंद, स्कूल-दफ्तर भी बंद, क्या है पूरा सच? जानिए यहाँ

Petrol Pump Strike Hadtal Crisis – आपकी सूचना के अनुसार, पेट्रोल पंप पर लोग लंबी कतिपय स्थितियों में खड़े हैं ताकि वे अपने वाहनों में पेट्रोल भरा सकें। arcswebservice के साथ हुई चर्चा में, लोग यह जानकर चिंतित हैं कि पेट्रोल पंप चार दिनों के लिए बंद हो सकते हैं।

पेट्रोल पंप हड़ताल संकट – शहर में अधिकांश पेट्रोल पंपों पर ड्राइवर्स की हड़ताल के कारण पेट्रोल और डीजल की आपूर्ति समाप्त हो गई है। ड्राइवर्स ने पेट्रोल और डीजल के टैंकरों को चलाना बंद कर दिया है, जिससे पंप तक इन तत्वों की पहुंच नहीं हो पा रही है। यह हड़ताल पहले से तीन जनवरी तक के लिए योजित की गई है।

केंद्र सरकार ने हिट एंड रन केस के तहत एक नया कानून पास किया है, जिसके अनुसार ड्राइवर को दुर्घटना में मृत्यु होने पर दस साल की कड़ी सजा और पांच लाख रुपए का जुर्माना होगा। ड्राइवर्स इसके खिलाफ विरोध कर रहे हैं, हालांकि यह कानून सभी ड्राइवर्स पर लागू होगा, और कार चालक भी इसके दायरे में आएंगे।

चार दिन पेट्रोल पंप बंद होने की बात कितनी सच

ड्राइवर्स एसोसिएशन ने एक से तीन जनवरी तक हड़ताल करने का निर्णय लिया है, और 2 जनवरी को यह पहले ही शुरू हो चुका है। 3 जनवरी तक का समय अब बाकी है। वर्तमान में शहर के अधिकांश पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल समाप्त हो गया है और कलेक्टर इलैया राजा टी ने खुद मोर्चा संभाल लिया है।

कलेक्टर के मुताबिक पेट्रोल और डीजल की सप्लाई कहीं भी नहीं रुकेगी और यह सभी स्थानों पर नियमित रूप से मिलता रहेगा ताकि जनता को किसी प्रकार की असुविधा ना हो। चार दिनों तक पेट्रोल पंप बंद रहने की बात पूरी तरह से गलत है, क्योंकि जो पंपें दोपहर तक बंद रही थीं, वे भी अब चालू हो गई हैं।

हम सभी पंप पर पेट्रोल पहुंचा रहे हैं। मध्यप्रदेश पेट्रोल पंप डीलर्स एसो. के अध्यक्ष अजय सिंह ने बताया कि वे आयल कंपनियों और प्रशासन के साथ मिलकर डीलरों को निजी टैंकरों से सप्लाई जारी रखने का समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने स्वीकार किया कि 2 से 3 दिन की सप्लाई में कुछ कठिनाईयों का सामना करना पड़ सकता है।

स्कूल दफ्तर भी बंद रहेंगे क्या है

सोशल मीडिया पर स्कूलों के तीन दिनों के बंद रहने की खबर फैल रही है, लेकिन कलेक्टर ने इसके लिए कोई आदेश जारी नहीं किया है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि स्कूल बंद करने की कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। वहीं, दफ्तर और अन्य कामकाज भी बंद रहने की बात गलत तरीके से फैलाई जा रही है।

सभी तरह की बसें बंद, यात्रियों की फजीहत

सरवटे बस स्टैंड के इंचार्ज दिनेश पटेल ने बताया कि सोमवार को यहां से विभिन्न रूट पर संचालित होने वाली 425 से अधिक बसें, गंगवाल बस स्टैंड से 250 बसें और तीन इमली से संचालित होने वाली 200 से अधिक बसों का संचालन आज नहीं हुआ।

हड़ताल के कारण देवास, उज्जैन, महू, और आसपास के शहरों से रोज अपडाउन करने वाले यात्रीयों की फजीहत हो गई है। उन्हें अंदेशा नहीं था कि सोमवार सुबह से ही विरोध जोर पकड़ लेगा। ये यात्री समय पर बस स्टैंड तक पहुंचे तो पता चला कि सभी यात्री बसें बंद हैं।

इन लोगों ने अन्य बसों से भी जाने की कोशिश की, लेकिन सभी बंद थीं। इसके कारण कई लोग घर लौट गए, जबकि कुछ अन्य वाहनों से अपने गंतव्य की ओर रवाना हुए। एआईसीटीएसएल द्वारा इंदौर में 400 और बाहर 150 बसों का संचालन किया जाता है, लेकिन आज हड़ताल के कारण यह सभी बसें रवाना नहीं हुईं।

कलेक्टर ने दिए पेट्रोल, डीजल, एलपीजी की आपूर्ति बाधित न होने के निर्देश

इंदौर जिले में पेट्रोल, डीजल, एलपीजी की आपूर्ति सतत बनाए रखने के लिए अपर कलेक्टर गौरव बैनल द्वारा ऑयल कंपनी बीपीसीएल, आईओसीएल, एचपीसीएल, टैंकर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन, ड्राइवर यूनियन डिपो, पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन, आरटीओ, पुलिस इत्यादि के साथ बैठक आयोजित की गई।

बैठक में सभी को पेट्रोल, डीजल, एलपीजी की आपूर्ति बनाए रखने के लिए कहा गया। बैठक में ड्राइवर यूनियन ट्रांसपोर्ट यूनियन को सुना गया, उनकी भ्रांतियों का निराकरण भी किया गया।

उन्हें समझाइश दी गई कि किसी के बहकावे में ना आएं। किसी भी प्रकार का विरोध है तो ज्ञापन प्रस्तुत करके लिखित में जिला प्रशासन को प्रस्तुत करें, उनकी मांग को शासन में उच्च स्तर तक उचित कार्रवाई के लिए तत्काल भेजा जाएगा।

सौ से ज्यादा पेट्रोल डीजल टैंक रवाना किए

इंदौर ऑपरेटर एवं ट्रक एसोसिएशन के सीएल मुकाती ने भी समझाइश दी कि अभी अधिकृत किसी प्रकार की हड़ताल नहीं की गई है। कृपया आम जनता की सुविधा के लिए निर्बाध रूप से डीजल, पेट्रोल, एलपीजी का परिवहन निरंतर करते रहें। तत्पश्चात सभी ड्राइवर और टैंक लॉरी के ट्रांसपोर्टर काम पर लौटे।

आम जनता को किसी प्रकार की परेशानी ना हो इसके लिए पेट्रोल, डीजल की सतत आपूर्ति बनाए रखने के लिए तत्काल काम शुरू कराया गया और अभी तक 100 से ज्यादा टैंकर पेट्रोल डीजल लेकर निकल चुके हैं।

कलेक्टर डॉ इलैयाराजा टी. द्वारा सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि आम जनता को पेट्रोल, डीजल, एलपीजी की आपूर्ति किसी प्रकार भी बाधित न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *