एक बीघा में गेहूं का बीज कितना डालें

भारत देश में कृषि एक महत्वपूर्ण धारा है जो हमारे गाँवों और शहरों को जीवनुपाधि प्रदान करती है। इसमें अनेक प्रकार के फसलों की खेती होती है, जिसमें से एक मुख्य फसल है गेहूं। गेहूं को उगाने के लिए एक महत्वपूर्ण प्रश्न है कि एक बीघा में गेहूं का बीज कितना डालें? यह सवाल किसानों के मन में बार-बार उठता है और उन्हें यह सही मार्गदर्शन प्रदान करना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

Table of Contents

एक बीघा क्या है?

सबसे पहले हमें यह समझना आवश्यक है कि एक बीघा क्या है। भारतीय कृषि में भूमि का माप एक बीघा के आधार पर किया जाता है। एक बीघा का माप 1,600 वर्ग यार्ड के बराबर होता है, जिसमें लगभग 0.4 हेक्टेयर का क्षेत्रफल शामिल होता है। इसका मतलब है कि एक बीघा का क्षेत्रफल लगभग 40,000 वर्ग मीटर होता है।

गेहूं की खेती में बीज की मात्रा

गेहूं की खेती में बीज की सही मात्रा का चयन करना किसान के लिए एक अहम कदम है। अगर हम इसे बहुत ज्यादा मात्रा में डालते हैं, तो पौधों के बीच में सही दूरी नहीं बन पाती और उन्हें आवश्यक ऊर्जा और पोषण की कमी हो सकती है। यह भी पौधों को व्यापकता नहीं मिल पाती है, जिससे पूरे खेत में समान प्रकार की फसल नहीं हो पाती है।

दूसरी ओर, अगर हम बहुत कम मात्रा में बीज बोते हैं, तो पौधों के बीच में अधिक दूरी बनती है, जिससे फसल में बौआली हो सकती है और पौधों को आवश्यक पोषण की कमी हो सकती है।

बीज की मात्रा का चयन कैसे करें?

बीज की सही मात्रा का चयन करने के लिए किसान को कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  1. भूमि का प्रकार: गेहूं की खेती के लिए भूमि का प्रकार महत्वपूर्ण है। किसी भी खेत में यह जानकर कि भूमि मल्ल है या बालू वाली, किसान बीज की मात्रा को निर्धारित कर सकता है। मल्ल भूमि में बीज की मात्रा कम रखनी चाहिए, जबकि बालू वाली भूमि में थोड़ा ज्यादा।
  2. बीज की गुणवत्ता: उच्च गुणवत्ता वाले बीजों का चयन करना भी महत्वपूर्ण है। यह सुनिश्चित करेगा कि पौधे स्वस्थ और प्रतिफली होंगे।
  3. मौसम का प्रभाव: बर्फ या बारिश के कारण बीजों को क्षति हो सकती है, इसलिए मौसम के अनुसार बीजों की मात्रा को समायोजित करना चाहिए।
  4. बुआई का समय: सही समय पर बुआई करना भी महत्वपूर्ण है। अगर बुआई का समय गड़ेदार होता है, तो बीजों को ठीक से बोना नहीं जा सकता है।

गेहूं की बुआई में बीज की सही मात्रा

अब जब हमने यह समझ लिया है कि बीज की सही मात्रा का चयन कैसे करें, तो आइए देखें कि गेहूं की बुआई में बीज की सही मात्रा क्या होनी चाहिए।

  1. साइज ऑफ बीज: गेहूं के बीज की साइज पर ध्यान देना जरूरी है। यदि बीज बड़ा है, तो उसे कम मात्रा में बोना जा सकता है, जबकि छोटे बीजों की ज्यादा मात्रा में बोनी जा सकती है।
  2. भूमि की उपजाऊता: जितनी भूमि उपजाऊ होगी, उतनी ज्यादा मात्रा में बीज बोना जा सकता है।
  3. पूर्व सिंचाई: अगर खेत में पूर्व सिंचाई की गई है, तो बीजों को ज्यादा मात्रा में बोना जा सकता है।
  4. पोषण: बोने जाने वाले बीजों का पौधों को पूर्णत: पोषण मिलना चाहिए। इसके लिए बीजों की सही मात्रा का चयन करना जरूरी है।
  5. खेत का आकार: बड़े खेतों में बीजों को थोड़ा ज्यादा मात्रा में बोना जा सकता है, जबकि छोटे खेतों में कम मात्रा में।
  6. बीजों की गुणवत्ता: अच्छी गुणवत्ता वाले बीजों का चयन करना बहुत जरूरी है। इससे पौधे स्वस्थ होंगे और अधिक फल होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *