अदरक की खेती कैसे करें, सम्पूर्ण जानकारी।

अदरक की खेती कैसे करें, सम्पूर्ण जानकारी।

वैसे तो अदरक की खपत भारत के कई राज्यों में होती है पर जिन छह राज्यों में अदरक का सबसे ज्यादा उत्पादन मिलता है। नंबर वन पर कर्नाटक, नंबर टू पर उड़ीसा, नंबर थ्री पर अरुणाचल प्रदेश, नंबर फोर पर आसाम और नंबर फाइव पर मेघालय इन राज्यों में अदरक की खेती लार्ज स्केल पर होती।

अदरक की खेती करने का सही तरीका क्या जिन्हें जानकर हम अदरक की खेती से होनेवाले उत्पादन को बढ़ा सकते और इसके साथ ही अदरक की खेती से मिलने वाली आमदनी डेढ़ से दो गुना तक कर सकते हैं।

अदरक की खेती के लिए सबसे उपयुक्त बुआई का सही समय क्या है?

अदरक की खेती हम सभी तरह के मिटटी में कर सकते हैं। सिर्फ आप एक बात का ध्यान रखें कि आपके खेत की मिट्टी वाटर को होल्ड ना करे। क्योंकि अदरक की फसले कद्दूवर्गीय फसलें हैं, अगर आपकी खेत की मिट्टी वाटर को होल्ड करती है तो इससे आपके अदरक की फसल खराब हो सकती है।

क्योंकि आपके कंद सड़ सकते हैं। इसलिए आप अदरक की खेती के लिए उस मिट्टी का चुनाव करें जिसकी वाटर ड्रेनेज कैपेसिटी अच्छी हो। यानि की हम अदरक की खेती सभी तरह की मिट्टी में कर सकते सिर्फ हमें उस मिटटी का चुनाव नहीं करना है जिसमें जलधारण की कैपेसिटी ज्यादा रहती है। बात करें अगर मिट्टी की पीएच मान तो छह से साढे सात आपकी मिट्टी का पीएच मान रहना चाहिए। 

अब बात करते हैं कि अदरक की खेती का सही समय क्या है। 

दक्षिण भारत के किसान अदरक की खेती अप्रैल से मई महीने तक कर सकते हैं व मध्य भारत और उत्तर भारत के किसान अप्रैल से जून महीने तक अदरक की खेती कर सकते हैं। पूरे भारत के अधिकतर राज्यों में आप अदरक की खेती 15 मई से 30 मई के बीच कर सकते हैं।

अगर आपको दक्षिण भारत मध्य भारत उत्तर भारत में कन्फ्यूजन है और आपको नहीं पता है की आपका एरिया किसमें है तो आप सिंपल अदरक की खेती 15 मई से 30 मई के बीच में कर सकते हैं क्योंकि भारत के अधिकतर राज्यों की जलवायु इस समय अनुकूल रहती है। दोस्तों आपको बता दें की एक एकड़ अदरक की खेती से हम तकरीबन 50 क्विंटल अदरक का उत्पादन ले सकते हैं।  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top